उपभोक्ता संघ की साधारण सभा ने पारित किया 17.58 करोड़ का बजट

 - बाजार की जरूरतों को पहचान कर अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाये - विश्वसनीयता ही सहकारिता की पहचान

_x000D_ _x000D_

जयपुर। उपभोक्ता संघ के प्रशासक एवं रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने बताया कि दैनिक जीवन में सूचना प्रौद्योगिकी एवं तकनीक के बढ़ते उपयोग से दिन प्रतिदिन बाजार में तेजी से प्रतिस्पद्र्धा बढ़ रही है साथ ही बाजार में उपभोक्ताओं की नई जरूरतें सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि हमें बाजार में हो रहे बदलावों को समझते हुये उपभोक्ताओं की जरूरतों को पहचानते हुये सहकारी क्षेत्र में सेवाओं कीगुणवत्तापूर्णतरीके से उपलब्धता सुनिश्चित करनी चाहिये। उपभोक्ता संघ (राजस्थान राज्य सहकारी उपभोक्ता संघ लि., जयपुर) की 34वीं वार्षिक साधारण सभा द्वारा वर्ष 2019-20 की अवधि के लिये कार्य योजना एवं 17 करोड़ 58 लाख रुपये का बजट सर्वसम्मति से पारित कर दिया।  डॉ. पवन सोमवार को सहकार भवन के सभागार में उपभोक्ता संघ की आयोजित 34वीं वार्षिक साधारण सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सहकारिता हमें विपरीत परिस्थितियों में एक सबके लिये, सब एक के लिये की मूल भावना के साथ आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से उपभोक्ता संघ विपरीत वित्तीय परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करेगा। उन्होंने कहा कि इसके लिये उपभोक्ता संघ एवं सदस्य संस्थाओं को एक परिवार के रूप में एकजुट रहकर कार्य करना होगा।  उन्होंने कहा कि विश्वसनीयता सहकारिता की पहचान है और इसके साथ किसी प्रकार का समझौता संभव नहीं है। इसलिये सभी सेवायें एवं उत्पाद उपलब्ध कराने वाली संस्थाओं को अपनी जिम्मेदारीे पूरी तरह से निभानी होगी। उन्होंने कहा कि समाज के प्रति सरोकार सहकारिता के मूल सिद्धान्तों में से एक है। इसलिये यह हमारा दायित्व है कि हमें पटाखों के संबंध में दिये गये माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्णय तथा नो टू सिंगल यूज प्लास्टिक की मुहिम को ध्यान में रखते हुये अपने व्यवसाय करें।  उपभोक्ता संघ के प्रबंध संचालक  संजय गर्ग नेप्रशासक की अनुमति से साधारण सभा के समक्ष बिन्दुवार एजेण्डा रखा औरविचारणीय विषयों के साथ भावी कार्यक्रमों की रूपरेखा प्रस्तुत की।उन्होंने साधारण सभा के समक्ष वर्ष 2017-18 की साधारण सभा की कार्यवाही विवरण, वर्ष 2018-19 के अन्तिम लेखे एवं ऑडिट रिपोर्ट के भाग ‘अ’ की अनुपालना रिपोर्ट तथा वर्ष 2019-20 अवधि के लिये प्रस्तावित बजट का विवरण प्रस्तुत किया, जिनका साधारण सभा में उपस्थित सभी सदस्याें ने सर्वसम्मति से अनुमोदन किया। बैठक में अतिरिक्त रजिस्ट्रार (प्रथम)  विजय कुमार शर्मा, संयुक्त शासन सचिव (वित्त)  मेवा राम जाट, सदस्य जिला उपभोक्ता होलसेल भण्डारों एवं क्रय विक्रय सहकारी समितियों के अध्यक्ष तथा उपभोक्ता संघ के संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें