कोटा में घरों का नुकसान देखकर मंत्री ने पौंछे प्रभावितों के आंसू नुकसान का सर्वे उपरान्त शीघ्र मिलेगी सहायता -स्वायत्त शासन मंत्री

 

_x000D_ _x000D_

जयपुर। स्वायत्त शासन मंत्री  शांति धारीवाल गुरूवार कोटा जिले के जल भराव से प्रभावित परिवारों से मिले तथा घरों में हुए नुकसान का मौका निरीक्षण कर प्रभावित परिवारों के आंसू पोंछे। स्वायत्त शासन मंत्री चम्बल नदी के किनारे स्थित खण्डगांवडी पहुंचे जहां जल भराव वाले स्थानों पर प्रभावितों के मकानों में जाकर नुकसान का मौका निरीक्षण किया। घरों में जल भराव के निशान एवं नष्ट हुए सामान को देखकर मंत्री भी भावुक हो गये। उन्होंने आत्मियता से मिलकर प्रभावित परिवारों को आश्वस्त किया कि सरकार द्वारा मूलभूत आवश्यकताओं के लिए दी गई 3800 रूपये की सहायता के अलावा नुकसान का पूर्ण सर्वे के उपरान्त नियमानुसार समय पर मदद दी जायेगी। उन्होंने  धनकंवर के आवास में जाकर पानी भराव से हुए नुकसान का अवलोकन किया तथा आश्वस्त किया कि सरकार एवं सामाजिक संगठन ऎसे परिवारों के साथ हैं। स्वायत्त शासन मंत्री ने स्थानीय माताजी के मंदिर परिसर में खण्डगांवडी क्षेत्र के सभी प्रभावित परिवारों से रूबरू होकर नुकसान की जानकारी ली। नगर निगम, जिला प्रशासन एवं स्वायत्त शासन मंत्री द्वारा अपने स्तर पर नुकसान के सर्वे की सूची को पढकर सुनाया तथा नागरिकों से अनुरोध किया कि कोई भी परिवार सर्वे में छूट गया है तो प्रशासन अथवा निगम को आवेदन मय फोटो के दें ताकि जांच करवाकर सूची में शामिल करवाया जा सके। स्वायत्त शासन मंत्री दोस्तपुरा में जल भराव से प्रभावित परिवारों के बीच भी पहुंचे। आफिसर्स क्लब में प्रशासन द्वारा बनाये गये आश्रय स्थल पर उन्होंने प्रभावित परिवारों से नुकसान की जानकारी ली तथा शीघ्र मदद दिलाने का आश्वासन दिया। 

_x000D_ _x000D_

चम्बल रिवर फ्रंट से होगा समाधान

_x000D_ _x000D_

स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि नदी के किनारे बने घरों में बार-बार पानी भराव की समस्या रहती है। जान-माल का नुकसान नहीं हो इसके लिए ऎसे परिवारों को अन्य जगह पुनर्वासित किये जाने की योजना है। कोटा बैराज से चम्बल की पुलिया तक रिवर फ्रंट की योजना बनाई गई है। इसके पूर्ण होते ही पानी भराव एवं बाढ की समस्या से स्थायी छुटकारा मिलेगा। उन्होंने बताया कि  द्वितीय चरण में रेलवे स्टेशन की तरफ भी रिवर फ्रंट का प्रस्ताव बनवाया जायेगा। इस दौरान कोटा नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, नेता प्रतिपक्ष नगर निगम अनिल सुवालका, आयुक्त नगर निगम वासुदेव मालावत, सचिव नगर विकास न्यास भवानी सिंह पालावत सहित प्रशासनिक अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।  


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें