पुजारी को जिंदा जलाना मानवता पर कलंक - आचार्य लोकेशजी

सर्वधर्म संत पुजारी के परिवार और प्रशासन से भेंट करेंगे

नई दिल्ली: राजस्थान के करौली में पुजारी को जिंदा जलाने की घटना का संज्ञान लेने दिल्ली से भारतीय सर्वधर्म संसद का एक शिष्टमंडल रविवार को प्रात: 11:00 बजे करौली पहुंचेंगे । शिष्टमंडल में भारतीय सर्वधर्म संसद के अंतर्राष्ट्रीय संयोजक जैनाचार्य डॉ लोकेशजी, सनातन परंपरा के प्रखर प्रवक्ता स्वामी दीपांकरजी, बंगला साहिब गुरुद्वारा के चेयरमेन सरदार परमजीत सिंह चंढोकजी, श्रीकूलम शक्तिपीठ की पीठाधीशवर माता नीतिअम्बा गिरिजी एवं रिलीजन वर्ल्ड के संस्थापक श्री भव्य श्रीवास्तवजी एवं विनीत शर्माजी साथ होंगे । शिष्टमंडल पुजारी श्री बाबू लालजी वैष्णव के परिवार एवं प्रशासन से भेंट करेगा। 

भारतीय सर्वधर्म संसद के अंतर्राष्ट्रीय संयोजक एवं प्रख्यात जैनाचार्य डॉ लोकेशजी ने कहा कि मंदिर की जमीन को दबंगों द्वारा हथियाने के प्रयास में पुजारी बाबू लालजी वैष्णव को जिंदा जला डालना इंसानियत को बहुत ही शर्मसार करने वाली घटना है, मानवता पर कलंक है, इसकी जितनी भ्रसना की जाए वह कम है।

सर्वधर्म संसद के संतों का कहना है कि पिछले कुछ समय से इस तरह की घटनाएँ ज्यादा देखने को मिल रही है। इसी वर्ष महाराष्ट्र के पालघर की घटना के घाव अभी भरे भी नहीं और अब राजस्थान की इस घटना पूरे देश को झकझोर के रख दिया है।  

सर्वधर्म संसद के सभी संतों में इस घिनोने कृत्य के विरोध में काफी आक्रोश है एवं घटना की घोर निंदा की है जिसकी न्यायिक जांच की मांग के साथ दोषियों को तत्काल अविलंब गिरफ्तार करके कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए। सर्वधर्म संतों ने सभी राज्यों से आह्वान किया कि जहा कहीं भी इस तरह की घटनाए हो रही है, तुरंत आरोपियों का पता लगाकर उसके पीछे की साजिश का पर्दाफाश किया जाए क्योंकि सभी जगहों पर केवल हिन्दू एवं सनातन धर्म के संतों को ही निशाना बनाया जा रहा है।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें