असम के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में नारायण सेवा संस्थान ने 1000 परिवारों में किया भोजन सामग्री का वितरण

16 सितंबर, 2020- नारायण सेवा संस्थान ने असम के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 1000 परिवारों को खाद्य सामग्री वितरित की है। यह सामग्री सुमोईमारी, अपर सुमोईमारी, दोखिन कोमार गाँव, कामजन, मेलेंगी,लाछोन गांव (तिनसुकिया), लाईबिल शिवसागर और मिरीपोठार (जोरहाट) के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों मे वितरण किया गया है।
_x000D_ कोविड -19 के बीच नारायण सेवा संस्थान ने फीडिंग इंडिया के साथ जरूरतमंदों को भोजन बनाने की सुविधा और बाढ़ प्रभावित परिवारों की मदद करने के लिए अभियान को सफल बनाया है।
_x000D_ एनएसएस राहत कार्यों के माध्यम से सूखे खाद्य पदार्थ, रेडी-टू-ईट फूड पैकेट, ड्राई स्नैक्स, बिस्कुट के पैकेट, नमकीन, दूध पाउडर और पीने के पानी का वितरण किया गया है। इसके साथ ही महिलाओं को साबुन और सेनेटरी नैपकिन भी वितरित किए गए हैं।
_x000D_ नारायण गरीब परिवार योजना के तहत, कई राज्यों में लगभग 50,000 परिवारों को लगातार मासिक राशन दिया जा रहा है। कोविड -19 के बीच, संस्थान ने राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और महाराष्ट्र में कई परिवारों को 13,800 परिवारों को राशन सामग्री, 1,37,000 से अधिक भोजन के पैकेट, 68000 मास्क, 800 पीपीई किट वितरित किए हैं।
_x000D_ नारायण सेवा संस्थान के अध्यक्ष, प्रशांत अग्रवाल ने कहा, "कोविड -19 से उत्पन्न स्थिति में परिवारों और छोटे बच्चों को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। इस अभियान में, असम में बाढ़ के कहर के कारण, संकट के इस क्षण में बच्चों सहित परिवारों के लिए बुनियादी जरूरतों को पूरा करने में जुटे हुए है । इसी मुहिम में 1000 परिवारों को राशन सामग्री वितरित करने में कामयाब रहे हैं। हमें उम्मीद है कि दान दाता आगे आकर दान देकर जरूरतमंदों की मदद करने में हमारी मदद करेंगे। "
_x000D_ एनएसएस स्किल सेंटर ने जरूरतमंद लोगों को आत्मनिर्भर बनाने और देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए जल्द ही कौशल कक्षाएं चलाने की योजना बनाई है।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें