हिंदी भाषी छात्रों के लिए विस्तृत कैरियर मार्गदर्शन देने हेतु आईसीएस कैरियर जीपीएस ऐप हुआ लॉन्च

इंस्टिट्यूट फॉर कैरियर स्टडीज (ICS) ने संस्थापिका-निदेशिका डॉ अमृता दास के नेतृत्व में ICS Career GPS ऐप के हिंदी संस्करण को हाल ही में लॉन्च किया। ज़ूम पर हुई इस लांच में देशभर के शिक्षाविदों, उत्तरप्रदेश, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख के शिक्षा विभागों के सरकारी अधिकारियों, तथा अभिभावकों व विद्यार्थियों ने भाग लिया। डॉ दास, जो कि एक प्रसिद्ध शिक्षाविद और कैरियर मार्गदर्शक हैं, हाल ही में नयी शिक्षा नीति 2020 के कार्यान्वयन के लिए यूपी सरकार द्वारा एक महत्वपूर्ण टास्क फोर्स में नियुक्त करी गई। 


ऐप हिंदी बोलने और समझने वाले छात्रों व उनके अभिभावकों को पाठ्यक्रम, कैरियर, कॉलेज तथा विश्वविद्यालयों की विस्तृत जानकारी देगी। वर्तमान अनिश्चितता को ध्यान में रखते हुए, ऐप पर उपलब्ध सभी सुविधाएँ, कैरियर रुचियाँ, व्यक्तित्व परीक्षण, कैरियर विस्तृत परीक्षण व जानकारी, तथा व्यक्तिगत परामर्श नि:शुल्क हैं। इस उच्च कैरियर मार्गदर्शन सुविधा की सराहना करते हुए जम्मू-कश्मीर स्कूल शिक्षा विभाग ने ICS Career GPS ऐप को अपने कैरियर पोर्टल पर स्थान दिया।


डॉ दास ने बताया कि “देशभर के छात्रों को अपनी उत्कृष्ट काउंसलिंग देने के उद्देश्य से हमने ICS Career GPS हिंदी ऐप जारी किया। 3 आसान चरणों की मदद से आपको त्वरित कैरियर स्पष्टता मिलती है। यह AI संचालित ऐप छात्रों को स्वयं को जानने में, खुद को सूचित करने में, तथा अपनी पसंद और योग्यताओं के अनुसार कैरियर चुनने में अत्यंत लाभकारी है”।


श्री ऋषि बगला, प्रमोटर बागला ग्रुप, जिन्होंने ICS की इस नयी पहल में निवेश किया है। उन्होंने प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसी भी देश के लिए मानव संसाधन का सक्षम होना अति महत्वपूर्ण है। इसी विश्वास से मैंने इस प्रोजेक्ट में निवेश किया।


श्री अजीत दास, निदेशक संचालन ने बताया कि ICS पाँच वर्षों में वैश्विक स्तर पर 25 करोड़ युवाओं को लाभकारी रूप से प्रभावित करने का लक्ष्य रखता है। 1985 में स्थापित, लखनऊ- स्थित ICS ने दुनिया भर में 500 से अधिक शैक्षिक संस्थानों में लाखों छात्रों को लाभान्वित किया है। 


मुख्य अतिथि डॉ फराह उस्मानी, निदेशक यूएनएफपीए (UNFPA), व विशिष्ठ अतिथि श्रीमती आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव, शिक्षा, उत्तर प्रदेश सरकार, ने भी ICS की इस कोशिश की सराहना  करी।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें