अपने व्यक्तित्व एवं कार्यो की आभा से रोशनी बिखेर रही शिखा तिवारी

महिलाओं के प्रति सजग,प्रेरणा और सहानुभुति शिक्षा का एक उदाहरण

_x000D_ _x000D_

फैशन,सिनेमा से कमा रही है नाम

_x000D_ _x000D_

हाल ही पिंकसिटी मे सर्वेश्रेष्ठ अभिनेत्री से नवाजा 

_x000D_ _x000D_

अनिल खिलेरी

_x000D_ _x000D_

सांचौर। वर्तमान समाज आधुनिकता के चलते फैशन के तौर-तरीकों की और ढलता जा रहा है।ऐसे में फैशन के उभरते अरमानों में एक नाम शिखा तिवारी आता है।तिवारी राज्य के अलवर जिले के छोटे से गांव बगड से है।हालांकि अलवर से ही में ही पली है और यही से प्रारम्भिक पढाई की।तिवारी की सादगी से लोग भी अचांभित है,लोगो का मानना है कि एक तरफ फैशन की दुनिया में बढते कदम और दुसरी तरफ जागृति तथा प्रेरणा स्त्रोत के रूप में दिखती है।तिवारी गांवों में निःशुल्क मेडिकल कैम्प और बच्चों के लिए निशुल्क उपचार करती नजर आती है,तो लोग भी अचांभित हो जाते है।यही नही तिवारी ने गरीब बालिकाओं को निशुल्क शिक्षा के लिए हमेशा से संवेदनशील रही है तो महिलाओं के लिए नारी शक्ति बनकर उभर रही है।तिवारी खुद फिजियोथैरेपिस्ट है।डाॅ. शिखा तिवारी ने डाॅक्टरी की डिग्री लेने के बाद पहले प्रयास में राज्य सहकारी सेवा की परिक्षा में सफलता में प्राप्त की।लेकिन उन्होने सरकारी नौकरी ज्वाईन नही की,क्योंकि वह कुछ ऐसा करना चाहती थी,जो दुसरों के लिए भी प्रेरणा बन सकें।

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

अपने सपनों में दुसरों के सपने देखे

_x000D_ _x000D_

डाॅ.शिखा तिवारी कहती है कि अपने सपनें को हर कोई सजाता है,लेकिन सपनों को नये पंखों के साथ  दुसरों के सपनों में अपने सपने सजाकर दुसरों को ये

_x000D_ _x000D_

हंसी देना ही बडा सकून मिलता है।तिवारी ने बताया कि वो अपने सपनों को सिर्फ अपने नही मानती है ब्लकि दुसरों के सपनों का अपना मानती है।

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

इन पुरस्कारों से हो चुकी सम्मानित

_x000D_ _x000D_

डाॅ.शिखा तिवारी को सामाजिक क्षेत्र,महिला सशक्तिकरण,स्तन कैंसरजागरूकता,सामाजिक सेवाओं,उत्कृष्टता के लिए विभिन्न सम्मान मिल चूके है।तिवारी को शहनाज पदमसी की और से वैच्विक उत्कृष्टता पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।यह पुरस्कार मानवीय उत्कृष्टता किसी भी एडीजी को पुरस्कृत

_x000D_ _x000D_

करती है।इसके अलावा बैंक आफ बड़ौदा की और से युवा आईकन पुरस्कार जो महिला

_x000D_ _x000D_

दिवस पर महिलाओं को दिया जाता है।युवा उपलब्धि सामाजिक जागरूकता के लिए स्टार डायमंड अवार्ड,स्तन कैंसर जागरूकता के लिए सामाजिक सेवाओं में सर्वश्रेष्ठ कार्य पुरस्कार।अटल गौरव रत्न पुरस्कार,राष्ट्रीय उत्कृष्टता पुरस्कार,शान ई हिंद राष्ट्रीय पुरस्कार,अटल रेना पुरस्कार सहित कई राष्ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया है।हाल ही प्रशासन द्वारा समर्थित सामाजिक जागरूकता पर लघु फिल्म एल्बम और जिंक फिल्म फेस्टिवल द्वारा

_x000D_ _x000D_

सम्मानित किया गया है।जिसे पिंकसिटी फिल्म फेस्टिवल द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया।तिवारी लगभग 150शो की जुबी व मुख्यअतिथि रह चुकी है।गौरतलब है कि अब कई जाने मानी पत्र-पत्रिकाओं के कवर पेज पर भी छा रही है। फैशन उधोग में श्रीमती अलवर रोजनी 2018,श्रीमती विश्वास राजस्थान2019,श्रीमती भारत

_x000D_ _x000D_

ब्रह्रांड2019,सर्वश्रेष्ठ रनवे माॅडल2019 से भी नवाजा जा चुका  है।फैशन कोरियोग्राफर ग्रूमर और मेंटर मिस और मिसेज मेसाजिंग दिवा 2019 से भी नवाजा गया है।

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

शोर्ट फिल्म में भी काम किया मिली बेहतरीन सफलता

_x000D_ _x000D_

डाॅ.शिखा तिवारी ने ओम पंवार को बताया है कि जब उन्होंने ब्युटी काॅटेस्ट में अवार्ड जीतना शुरू किया तो पुरे अलवर में बेहद खुशी महसूस की गई।जब वह मुम्बई से मिसेज इंडिया युनियर्स फस्र्ट रनर अप 2019का अवार्ड लेकर अलवर सीटी पहुँची तो उनका स्वागत किया गया।डाॅ शिखा ने सोशल अवेयरलेस पर जंहा एक शोर्ट फिल्म  में भी काम किया है।वहां उन्होने एक एलबम साग भी ‘मदर‘ थीम पर काम किया। हाल ही पिंकसिटी फिल्म फेस्टिवल द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार दिया गया है।

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

शिक्षा,आधुनिक फैशन में कर रही नवाचार

_x000D_ _x000D_

वर्ममान परिवेश को ध्यान में रखते हुए डाॅ.तिवारी बालिकाओं को शिक्षा की मुख्यधारा से जोडने के साथ साथ आधुनिक भारत के बदलते स्वरूप पर जन जागृति कार्यक्रमों के आयोजन कर शिक्षा और आधुनिक फैशन में नवाचार लाने का प्रयास कर रही है।

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

 

_x000D_ _x000D_

पति ने भी हर पल साथ साथ बढाये कदम

_x000D_ _x000D_

डाॅ तिवारी की हमेशा से ही गरीबो की सेवा करना और अशिक्षित लोगो को शिक्षा की मुख्य धारा से  जोडना।और अपने सपनो के उन गरीबों के पंख सजाना।फैशन की दुनिया मे हो या असहाय लोगो के बच्चो के निशुल्क ईलाज हो।जिसको लेकर तिवारी के पति डाॅ राकेश तिवारी ने हमेशा साथ दिया।इनके पति बताते है कि शिखा  ने जो बेडा उठाया है वाकई गर्व की बात है।आज के परिवेश मे लोग स्वार्थीपन के परिवेश मे आ जाते है।लेकिन शिखा का लोगो के प्रति प्रेम और सहानुभूति की देखकर मै खुद भी इनके आयामों पर चलने का प्रयास कर रहा हूॅ।बता दे कि डाॅ राकेश तिवारी नाक,कान व गले स्पन कैंसर विशेषज्ञ भी है। जो अलवर के एक सरकारी चिकित्सालय मे कार्यरत है।सरकारी चिकित्सक होने के साथ साथ सरकारी योजनाओं के क्रियावन्यन,शिक्षा के प्रति नवाचार मे शिखा की समय समय मे सहयोग करते है।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें