जलदाय विभाग की मनमर्जी से जनता परेशान, कई जगहों पर पानी बंद



जालोर । निकटव्रती गांव आंवलोज मे मेघवालो  के वास मे  पिछले एक महिने से पीने के पानी की किल्लत बनी हुई है। वही  वार्डवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वार्डवासियों ने इस संबंध में जलदाय विभाग के अधिकारियों को लिखित शिकायत की गई  लेकिन अब तक समस्या का समाधान नहीं हुआ जिसमें ग्रामीण परेशान है।
वार्डवासी मसराराम ने बताया कि वार्ड 5  मे   पिछले एक महिने से पानी की समस्या है। जो की खासकर महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
जलदाय विभाग 7- 8 दिनो  मे सिर्फ  एक बार पानी की सप्लाई दे रहा है वो भी नाम मात्र की। सप्लाई में एक-दो मटके ही पानी के आते हैं। जिस कारण वार्डवासियों को मुंह मांगे दामों में मजबूरन टैंकरों से पानी खरीदना पड़ रहा है। इस संबंध में जलदाय विभाग को लिखित शिकायत की जा चुकी है, लेकिन विभाग द्वारा अभी तक समस्या का समाधान नहीं किया गया। 
वार्डवासियों ने विरोध जताते हुए  शीघ्र ही पानी की समस्या का समाधान नहीं किया गया तो जलदाय विभाग कार्यालय पर विरोध-प्रदर्शन करेगे !
वही  वर्तमान में पीएचईडी विभाग की उदासीनता के चलते ये जीएलआर टंकियां नकारा साबित हो रही है। विभाग द्वारा उपखंड
क्षेत्र के कई गांवों में बनी ऐसी टंकियों है जो  काफी समय से पानी की आपूर्ति नही की जा रही है। जिससे जीएलआर दिनोदिन जर्जर हो 
रही है। वही सर्दी के मौसम के बावजूद इन दिनाें कई गांवों के आबादी क्षेत्र में पेयजल 
किल्लत बनी हुई है। सर्वाधिक परेशानी गांवों में आबादी क्षेत्र में निवासरत लोगो को झेलनी पड़ रही है। इन बस्तियों के लोग आज भी पेयजल के लिए सरकारी प्रयासों का इंतजार कर रहे हैं। क्षेत्र मे कई जगह बने जीएलआर क्षतिग्रस्त होने के कारण अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है। यहां रहने वाले लोगाें का कहना है कि सरकारी आश्वासनों के अलावा उन्हें पेयजल संबंधी कोई राहत नहीं मिल पाई है।
ग्रामीणों ने बताया कि गांवों में आबादी क्षेत्र में जीएलआर पेयजल स्रोत ही ग्रामीणों की 
वर्षों से प्यास बुझाते आ रहे हैं। लेकिन यहां  घराें में ही नर्मदा के नल कनेक्शन है, इनके अलावा सैकड़ाें परिवार आज भी पेयजल को तरस रहे हैं। बस्तियों में कुछ स्थानों पर ही सार्वजनिक नल एवं जीएलआर होने से लोगाें को पेयजल के लिए तरसना पड़ता है। 
ग्रामीणों द्वारा प्रशासन को अवगत करवाने पर भी अभी तक समस्या का समाधान नही हो रहा है। उनकी ओर से केवल आश्वासन ही दिया जा रहा हैं। 


इनका कहना है क्या कहना

पानी की सप्लाई में एक-दो मटके ही आते हैं। पानी नहीं आने से महिलाओं को भारी परेशानी हो रही है।
 - सन्तु देवी वार्डपंच 5 , गृहिणी

पानी की भंयकर समस्या बनी हुई है, इस संबंध में जलदाय विभाग को भी सूचना दे दी, लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। वही लाइन मैंन को फोन करते है तो फोन बंद आता है 
-वगताराम , वार्डवासी आंवलोज

पानी  की बहुत किल्लत है, दो दिन में एक बार सप्लाई दी जा रही है वो भी नाम मात्र की।
-नारायणलाल , वार्डवासी आंवलोज

जलदाय विभाग को कई बार शिकायत की जा चुकी है, लेकिन अधिकारी सुनते ही नहीं है। वार्डवासियों को टैंकरो से पानी खरीदना पड़ रहा है। 
- गजकी देवी ,गृहिणी वार्डवासी आंवलोज

दो महीनों से नर्मदा का पानी नहीं आ रहा है आगे से परैसर नहीं होने के कारण पानी नहीं छोड़ा जा रहा है फिर भी हम जल्द से जल्द ठीक करवा देंगे
 - विष्णु जांगिड़ जेईएन मांडवला


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें