मोदरान: आर्थिक तंगी व बीमारी से जूझ रहे मीठालाल सरगरा

मोदरान गांव के इंदिरा नगर कॉलोनी में आर्थिक तंगी व बीमारी से जूझ रहे मीठालाल (55)  रावताजी सरगरा सरकारी साहयता नही।. केंद्र और राज्य सरकारें गरीबों के हित में चाहे जितनी योजनाएं चला रही हों लेकिन वास्तविक पात्रों को अभी भी इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। ताज़ा मामला जालोर जिले के मोदरान ग्राम पंचायत के इंदिरा नगर कॉलोनी का  है। जसवंतपुरा पंचायत समिति  के मोदरान  गांव के रहने वाले एक गरीब को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाया है।

_x000D_ _x000D_

लकवा  की बीमारी से जूझ रहे इस शख्स को सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ भी नहीं मिल पा रहा है। हालात यह है कि पांच लोगों का परिवार मुफलिसी और ग़रीबी के चलते तिल तिल कर जीने को मजबूर है। गरीबी में जीवन जी रहे मीठालाल सरगरा पहले मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का गुराजा कर लिया करते थे। लेकिन कुछ माह पहले मीठा लाल  को लकवा  की ऐसी बीमारी लगी जिसके चलते अब वह बिस्तर से ही नहीं उठ पाते हैं। और बिस्तर में पडे पडे शरीर पर बडी बडी टांकी बन गई है ।

_x000D_ _x000D_

सरकार  बीमार लोगों के ईलाज के आयुष्मान कार्ड चलाने वाली सरकार सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं का बखान करने से भले ही न थक रही हो लेकिन गरीब मीठालाल  के ईलाज के लिए भी सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। मीठालाल सरगरा को जहां बीमारियों ने जकड़ रखा है वहीं ऐसी हातल में उनके अपने भी उनका साथ छोड़ गए हैं। उनके   बड़ा बेटा जो  मानसिक बीमारी से ग्रस्त है  दो बेटीया व पत्नी भी इनकी सेवा में लगे है  और  अहमदाबाद से लेकर जोधपुर तक सभी अस्पताल में लेकर इलाज करवाया लेकिन अब पैसा नहीं है तो घर पर ही जिंदगी और मौत से जुझ रहा है।  जबकि इतना ही नहीं  सरकारी सुविधाओं के साथ ही गरीबों की मदद करने का दम भरने वाली तमाम स्वयं सेवी संस्थाओं में से किसी ने भी मीठा लाल की सुध तक नहीं लिया।

_x000D_ _x000D_

इनका कहना

_x000D_ _x000D_

पीड़ित को सरकारी अस्पताल में जाना चाहिए और वहा से रिपोर्ट बनवाकर आगे भेजी जाएगी तब ही उन्हें उचित इलाज मिल सकता है ।
_x000D_ रामलाल
_x000D_ तहसीलदार जसवंतपुरा


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें