फिल्म समीक्षा : दस्यु ददुआ की ज़िन्दगी से इंस्पायर्ड है फिल्म 'तानाशाह'

फिल्म समीक्षा : तानाशाह

_x000D_ _x000D_

निर्देशक: रितम श्रीवास्तव

_x000D_ _x000D_

आर्टिस्ट: दिलीप आर्या

_x000D_ _x000D_

रेटिंग्स:  तीन स्टार्स

_x000D_ _x000D_

बॉलीवुड में पिछले कुछ वर्षों में रियलिस्टिक सिनेमा का ट्रेंड चल पड़ा है। कई फिल्मों में हिंसा, मार धाड़, गैंग्स, गोलीबारी, माफिया, डकैती जैसे विषय दिखाए गए हैं। इस सप्ताह रिलीज़ हुई

_x000D_ _x000D_

निर्देशक रितम श्रीवास्तव की फिल्म तानाशाह भी एक ऐसी ही रियलिस्टिक मूवी है, जिसमें समाज के कुछ कड़वे सच को प्रभावी ढंग से दिखाने का प्रयास किया गया है।

_x000D_ _x000D_

यह फिल्म रियल घटनाओं से प्रेरित बताई जा रही है और यूपी एवं एम पी

_x000D_ _x000D_

में लगभग तीस साल तक बागी जीवन गुजारने वाले दस्यु ददुआ की ज़िन्दगी से इंस्पायर्ड है। दिलीप आर्या ने फिल्म 'तानाशाह' में मुख्य भूमिका निभाई है और फिल्म देखते समय उनकी अभिनय क्षमता उभर कर सामने आती है।

_x000D_ _x000D_

दस्यु ददुआ अपनी बहन और पिता की बेदर्दी से हत्या का बदला कैसे लेता है, फिल्म में यह प्रभावी ढंग से दिखाने की कोशिश की गई है। फिल्म में उसकी रॉबिनहुड जैसी इमेज को भी उभारने का प्रयास किया गया है।

_x000D_ _x000D_

निर्माता मुकेश कुमार की इस फिल्म के निर्देशक रितम श्रीवास्तव मशहूर निर्देशक प्रकाश झा के साथ काम करने का अनुभव रखते हैं, सम्भवतः इसी लिए नए कलाकारों की मौजूदगी के बावजूद उन्होंने फिल्म को कहीं भी कमजोर नहीं होने दिया है।

_x000D_ _x000D_

अभिनेता दिलीप आर्या ने ददुआ के लीड रोल को बड़ी ही शिद्दत से जिया है। फिल्म देखते समय एहसास होता है कि वर्षों की मेहनत इस फिल्म को बनाने में लगी होगी। डकैतों की बागी ज़िन्दगी और उनके रहन-सहन के तरीके को दिलीप आर्या ने सच्चाई के बेहद करीब पेश किया है, जो बेहद मुश्किल और चैलेंजिंग था। फिल्म के सारे दृश्य रोमांच भरे रहे हैं। दुर्गम पहाडिय़ों और जंगल की लोकेशन फिल्म के विजुअल को स्तरीय बना देती है। खास तौर पर फिल्म का बैक ग्राउंड स्कोर तारीफ के काबिल है क्योंकि एक थ्रिलर फिल्म में जिस तरह के म्यूज़िक की जरूरत थी वैसा ही संगीत रखा गया है।

_x000D_ _x000D_

फिल्म में दिलीप आर्या का किरदार भले ही एक डाकू और एक बागी का है लेकिन कई बुराइयों के बावजूद उसमे कई अच्छाइयां भी हैं। वह निहत्ते पर गोली नहीं चलाता, औरतों लड़कियों की इज्जत पे हाथ नहीं डालता, शराब नहीं पीता।

_x000D_ _x000D_

आपको बता दें कि चित्रकूट के रहने वाले शिव कुमार पटेल उर्फ ददुआ का लगभग तीन दशकों तक राज था। उसी दस्यु के सरगना ददुआ के जीवन पर आधारित है फिल्म 'तानाशाह' जो 7 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। फतेहपुर निवासी दिलीप आर्या का नाम फिल्म में दद्दू रखा गया है। भले ही दिलीप आर्य की यह पहली फिल्म है, लेकिन वह भारतेंदु नाट्य अकादमी लखनऊ के स्टूडेंट रहे हैं और रंगमंच पर उन्होंने कई भूमिकाएं निभाई हैं।वहीं फिल्म के बाकी सभी कलाकार भी रंगमंच से जुड़े रहे हैं। फिल्म में दिलीप आर्या के अलावा इंद्रनील भट्टाचार्य, जितेंद्र शास्त्री, रवि खानविलकर, मनोज जोशी, प्रणय नारायण, तनमय रंजन इत्यादि ने भी बेहतर एक्टिंग की है।फ्रेम टू फ्रेम पिक्चर्स के बैनर तले बनी फिल्म तानाशाह का वितरण स्क्रीनशॉट मीडिया एंड एण्टरटेंमेंट ग्रुप के इसरार अहमद ने किया है। फिल्म के प्रोड्यूसर हैं फ्रेम टू फ्रेम एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड,मलिक मूवीज, रिजवान अहमद, रेहान अहमद

_x000D_ _x000D_

एक उम्दा स्क्रिप्ट, बेहतरीन डायरेक्शन, दिलीप आर्या की अद्भुत अदाकारी और एक रियलिस्टिक सिनेमा होने की वजह से फिल्म तानाशाह को एक बार अवश्य देखना चाहिए। 


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें