भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के छात्रों को मिलेगा रोमानिया की बैनट यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर साइंस एंड वेटरनरी मेडिसिन्स में इंटर्नशिप करने का मौका

जयपुर। भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) रोमानिया की बैनट यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चर साइंस एंड वेटरनरी मेडिसिन्स में इंटर्नशिप के लिए पांच छात्रों का चयन हुआ है। इंटर्नशिप के लिए चुने गए पांच छात्र बीएसडीयू में स्कूल ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप स्किल से हैं। छात्र 15 फरवरी से 31 मार्च 2020 तक रोमानिया की यूनिवर्सिटी में रहते हुए उद्यमशीलता और नवीन तकनीक सीखेंगे। छात्र स्वयं का कारोबार शुरू करने के लिए रोमानियाई लोगों द्वारा उठाए जाने वाले कदमों के बारे में भी जानेंगे। इससे पहले बैनट यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चरल साइंसेज एंड वेटरनरी मेडिसिन्स, टिमिसोआरा, रोमानिया की यात्रा करते हुए बीएसडीयू में स्कूल ऑफ एंटरप्रेन्योरशिप स्किल्स के प्रिंसिपल डॉ. रवि गोयल ने स्टाफ एबिलिटी के लिए प्रतिष्ठित इरास्मस ग्रांट प्राप्त की थी।

_x000D_ _x000D_

बीएसडीयू के प्रो. चांसलर डॉ. (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला ने कहा, ‘बीएसडीयू के छात्रों को इस अवसर से लाभ होगा और अंतर्राष्ट्रीय आधार पर अधिक सीखने को मिलेगा। यूनिवर्सिटी में उन्हें प्रशिक्षण देने के अलावा, हम उन्हें क्षेत्र का अनुभव प्राप्त करने के लिए उद्योगों में भी भेजते हैं, हमारे छात्रों को बैनट यूनिवर्सिटी में कुछ इसी तरह का अनुभव लेने के लिए भेजा जा रहा है। बीएसडीयू, प्रशिक्षण के लिए और अधिक फैकल्टी मेम्बर्स को भी भेजेगी।‘
_x000D_ बीएसडीयू ने बैनट विश्वविद्यालय के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत ‘इरास्मस प्रोग्राम‘ के अनुपालन के साथ दोनों विश्वविद्यालय छात्रों के आदान-प्रदान और इंटर्नशिप कार्यक्रमों के साथ-साथ विश्वविद्यालय की उद्यमिता कौशल स्कूल के स्टाफ सदस्यों के लिए अनुसंधान, विकास और नवाचार कार्यक्र मों के लिए अपने दरवाजे खोलेंगे।

_x000D_ _x000D_

बैनट यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चरल साइंसेज एंड वेटरनरी मेडिसिन्स, टिमिसोआरा, रोमानिया में विभिन्न देशों के छात्रों और संकाय सदस्यों के लिए एक इंटरैक्टिव सत्र भी आयोजित किया गया था, जहां उद्यमिता कौशल स्कूल के प्रिंसिपल डॉ. रवि गोयल ने बीएसडीयू को कौशल शिक्षा के मॉडल की व्याख्या की और सभी प्रतिभागियों ने इसकी बहुत सराहना की।

_x000D_ _x000D_

बीएसडीयू के वाइस चांसलर डॉ. अचिंत्य चैधरी ने कहा, ‘हमारी फैकल्टी और स्टूडेंटस को रोमानिया में शिक्षा प्रणाली और प्रशिक्षण शैली के बारे में जानने को मिलेगा। यह हमारे विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए एक्सपोजर पाने और पेशेवर दुनिया में प्रवेश करने के लिए खुद को तैयार करने का एक शानदार मौका है। हमारे छात्र सीखेंगे कि विभिन्न तकनीकों के साथ कैसे काम करें और यहां प्राप्त प्रशिक्षण का उपयोग कैसे करें। इसके अलावा, हमारे छात्र व्यवसाय खोलने और चलाने के दौरान अनुपालन के विभिन्न तरीकों के बारे में भी जानेंगे और सीखेंगे कि रोमानिया में लोग अपने व्यवसाय को कैसे चलाते हैं।’

_x000D_ _x000D_

 


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें