आईआईएमयू इन्क्यूबेशन सेंटर का नया पाठ्यक्रम उद्यमियों को अपना उद्यम कायम करने में बनाता है सक्षम

उदयपुर: इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, उदयपुर के इनक्यूबेशन सेंटर (आईआईएमयूआईसी) ने उद्यमशीलता की योजनाओं को हकीकत में बदलने और सफल उपक्रमों के निर्माण की दृष्टि से प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम 2020 के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। 3 जनवरी, 2021 से शुरू होने वाला यह पाठ्यक्रम दस सप्ताह तक चलेगा। यह इच्छुक उद्यमियों को अपने विचारों को साकार करने के लिए एक प्लेटफाॅर्म प्रदान करेगा।
हाल के दौर में कोविड-19 महामारी ने व्यवसायों और उद्यमियों को समान रूप से प्रभावित किया है और वे अपने विचारों को भी साकार रूप नहीं दे पाए हैं। ऐसे परिदृश्य में, आईआईएमयूआईसी के इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य नवोदित और महत्वाकांक्षी उद्यमियों को सशक्त बनाना है, जो उद्यमी मानसिकता और व्यावसायिक कौशल के साथ अपना उद्यम बनाने के लिए जरूरी भी माना जाता है। इसके अतिरिक्त, वे उद्यमिता कौशल भी विकसित करेंगे, ताकि वे सरलता से उद्यमिता संबंधी अपनी यात्रा को शुरू कर सकें।
आईआईएमयूआईसी की सीओओ सुश्री सुरेश ढाका ने कहा, ‘‘आईआईएम उदयपुर में उद्यमिता को एक प्रमुख कौशल समझा जाता है। हम उद्यमिता से संबंधित अपने पाठ्यक्रम संबंधी प्रयासों के माध्यम से व्यापार की दुनिया को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने का प्रयास करते हैं। हम नवाचार को बढ़ावा देते हुए सामाजिक रूप से जिम्मेदार प्रभाव कायम करना चाहते हैं।‘‘
उन्होंने कहा, ‘‘यह एक सैद्धांतिक कार्यक्रम नहीं है - इसके माध्यम से आप अपना उद्यम शुरू कर सकते हैं और प्रगति की राह पर आगे बढ़ सकते हैं।‘‘

पात्रता
● काम करने वाले पेशेवर
● उद्यमी
● छात्र
कार्यक्रम की मुख्य विशेषताएंः-
● समूह आधारित संरचित कार्यक्रम
● विशेषज्ञों के साथ प्रैक्टिकल मास्टरक्लास
● ग्रुप मेंटरिंग सत्र
● इन्वेस्टर और मेंटर कनेक्ट
● आईआईएमयूआईसी से पूर्णता का प्रमाण पत्र
● चयनित स्टार्टअप के लिए इन्क्यूबेशन के अवसर
● भारत सरकार के इलेक्ट्राॅनिक्स और सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्रालय की योजना के तहत टीआईडीई 2.0 अनुदान के लिए अर्हता प्राप्त करने का अवसर
इस पाठ्यक्रम में योजनाएं तैयार करना और उनका चयन करना, एक टीम का गठन करना और इसे विकसित करना, बिजनेस माॅडल का निर्माण करना और उसे मान्य करना, एमवीपी का निर्माण और परीक्षण, एक प्रोडक्ट-साॅल्यूशन-बाजार फिट हासिल करना, शुरुआती पूंजी जुटाना और खर्च करना, साझेदारी की पहचान और प्रबंधन और ग्राहकों को अपने साथ जोड़ना और उन्हें कायम रखने के साथ-साथ व्यापार को बढ़ाना है।
यह पाठ्यक्रम सभी के लिए खुला है और इसे अमेजाॅन वेब सर्विसेज, गूगल क्लाउड, वाधवानी फाउंडेशन और आईआईएम उदयपुर के एंटरप्रेन्योरशिप सैल- सक्षम का सपोर्ट हासिल है। वर्तमान महामारी के दौर को देखते हुए यह पाठ्यक्रम आॅनलाइन माध्यम से संचालित किया जाएगा।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें